तमाम सुरक्षा इंतजाम को धत्ता बताते हुए सोमवार को भाजपा विधायकों ने न सिर्फ मुख्यमंत्री आवास कूच किया, बल्कि सीएम आवास के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन भी किया.

प्रदेश सरकार पर भाजपा विधायकों को जबरन मामलों में फंसाने का आरोप लगाते हुए सोमवार को मुख्यमंत्री आ‌वास कूच का ऐलान किया. पुलिस ने भी भाजपाईयों को रोकने के पुख्ता इंतजाम किए, लेकिन पुलिस को चकमा देने के लिए भाजपा ने अपनी रणनीति बदल ली.

पुलिस को चकमा देते हुये भाजपा नेता सोमवार को मुख्यमंत्री आवास के गेट के बाहर आ पहुंचे, इस दौरान पुलिस ने भाजपा नेताओं को रोकने के तमाम दाव पेंच अपनाए थे, लेकिन सटीक रणनीति तैयार कर भाजपा ने पुलिस के चक्रव्यूह को भेद डाला.

दरअसल, भाजपा विधायकों पर फर्जी मुकदमे दर्ज करने के आरोप सहित कई मुद्दों को लेकर सोमवार को भाजपा ने सीएम आवास कूच किया. भाजपा नेताओं ने साफ तौर पर कहा है कि सरकार जबरन भाजपा के विधायकों को फंसाने का काम कर रही है, इसलिए वे सीएम आवास के गेट के बाहर धरने को तब तक नहीं खत्म करेंगे, जब तक उनके विधायकों पर लगे फर्जी मुकदमे वापस नहीं होते.

इस दौरान पुलिस व भाजपा नेताओं के बीच धक्का मुक्की भी हुई और भाजपा अध्यक्ष तीरथ रावत, नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट, पूर्व कैबिनेट मंत्री वंशीधर भगत जमीन पर गिर गए और बाकी के विधायक उनके उपर जा गिरे.

इसके चलते नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट और कैबिनेट मंत्री वंशीधर भगत घायल हो गए, प्रदर्शन के दौरान भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल की तबीयत भी बिगड़ गई और उन्हें उपचार के लिए दून अस्पताल ले जाया गया.

सीएम आवास के बाहर धरने पर बैठे भाजपाईयों को मनाने मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के तौर पर उनके मीडिया सलाहकार सुरेनद्र अग्रवाल भी पहुंचे, लेकिन भाजपा नेताओं ने उनकी एक न सुनी. काफी देर तक मनाने के बाद सीएम के मीडिया सलाहकार को भी बैरंग की लौटना पड़ा.

इसके बाद पुलिस को जबरन भाजपा नेताओं को गिरफ्तार करना पड़ा, वहीं भाजपा ने प्रदेश सरकार को चेतावनी दी अब भाजपा आगे और उग्र तरीके से सड़कों पर उतरकर आंदोलन करेगी.

मेरा पता

तीरथ सिंह रावत

भाजपा राष्ट्रीय सचिव / पूर्व प्रदेश अध्यक्ष / पूर्व शिक्षा मंत्री

ग्राम एवं डाकघर - सीरों, पट्टी असवालस्यूं
पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखण्ड , 246155
भारत

  +91.94120 04626

  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

  contact