आपदा घोटाले के मामले में सूबे की सियासत में उबाल मच गया है. सरकार सीबीआई जांच को तैयार नहीं है और विपक्ष ने सीबीआई जांच के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. अब इस मुद्दे पर सड़क से लेकर सदन तक सरकार को घेरने की तैयारी है. आपदा में हुए घोटाले के मामले ने प्रदेश की राजनीति को गरमा कर रख दिया है. आपदा के दौरान अधिकारियों की मौज मस्ती के खुलासे ने न सिर्फ प्रदेश की छवि को धूमिल करने का काम किया है बल्कि आपदा के दौरान बाहर से आई करोड़ों रुपए की मदद को लेकर भी सरकार पर सवालिया निशान लग रहे हैं.

वहीं विपक्ष का आरोप है कि आपदा में आए पैसे की जमकर बंदरबांट की गई है. अब सरकार विपक्ष के निशाने पर है. आपदा के दौरान हुए इस घोटाले के बाद से ही विपक्ष ने सरकार पर हमले तेज कर दिए हैं. जहां एक तरफ विपक्ष इस मामले में सरकार से श्वेत पत्र जारी करने के साथ ही सीबाआई जांच की मांग कर रहा है तो वहीं भाजपा सांसद रमेश पोखरियाल निशंक ने तो सरकार से इस्तीफे की मांग भी कर डाली है.

वहीं जब राज्य सरकार ने सीबीआई जांच की विपक्ष की मांग को सिरे से ठुकरा दिया है तो विपक्ष ने अब सरकार पर चौतरफा हमला बोल दिया है. नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट की अगुवाई में जहां भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल केके पॉल से मिलकर मामले की सीबीआई जांच की मांग की तो, वहीं भाजपा ने इस मसले पर प्रदेश की जनता के बीच जाने का फैसला भी किया है. प्रदेशभर में भाजपा सरकार के खिलाफ आंदोलन छेड़ने की तैयारी में है. इसके साथ ही आपदा घोटाले के मसले पर भाजपा नेता फिर से केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात करेंगे.

आपाद में हुए घोटाले पर सरकार को घेरते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत ने कहा कि सरकार ने तो घोटाले करने में कफन तक नहीं छोड़े हैं. तीरथ सिंह रावत ने मुख्यमंत्री हरीश रावत पर निशाना साधते हुए कहा कि शासन से जांच करवाने का मतलब है कि मामले को रफा-दफा करना. उन्होंने कहा कि पूरी सरकार इस घोटाले में संलित्प है और इसलिए इस मामले में सीबीआई जांच से किनारा किया जा रहा है. तीरथ सिंह रावत ने कहा कि इस मामले में और भी कई बड़े खुलासे होंगे, लेकिन सरकार इसके डर से सीबीआई जांच से किनारा कर रही है.

मेरा पता

तीरथ सिंह रावत

भाजपा राष्ट्रीय सचिव / पूर्व प्रदेश अध्यक्ष / पूर्व शिक्षा मंत्री

ग्राम एवं डाकघर - सीरों, पट्टी असवालस्यूं
पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखण्ड , 246155
भारत

  +91.94120 04626

  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

  contact