उत्तराखंड भाजपा के नए अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत होंगे। पार्टी हाईकमान ने देर रात इसकी घोषणा कर दी। अध्यक्ष पद की दौड़ में वरिष्ठता और अनुभव के चलते पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी का पलड़ा भी भारी माना जा रहा था, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री बीसी खंडूरी और रमेश पोखरियाल निशंक पार्टी नेतृत्व पर तीरथ सिंह रावत के नाम पर मुहर लगाने के लिए दबाव बनाए हुए थे।

इससे पहले नव निर्वाचित भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने इस मुद्दे पर उत्तराखंड के वरिष्ठ नेताओं के साथ शनिवार सुबह बैठक कर विचार-विमर्श किया। बैठक में कोश्यारी, खंडूरी, निशंक समेत प्रदेश के अन्य नेता भी मौजूद थे। सूत्रों के अनुसार खंडूरीऔर निशंक ने तीरथ सिंह के लिए दबाव बनाया। मालूम हो कि पिछले दिनों प्रदेश अध्यक्ष के लिए खंडूरी खेमे ने तीरथ सिंह से नामांकन करा दिया था और उन्हें और निशंक का समर्थन था।

जबकि कोश्यारी गुट ने त्रिवेंद्र सिंह रावत से नामांकन करा दिया। मामला बिगड़ने पर चुनाव टाल देना पड़ा था। नामांकन से यह बात साबित हो गई थी कि तीरथ सिंह के साथ बहुमत है। हालांकि राजनाथ सिंह के राष्ट्रीय अध्यक्ष बन जाने के बाद कोश्यारी को रेस में आगे माना जा रहा था क्योंकि उन्हें राजनाथ कैंप का माना जाता है। कोश्यारी खुद के अध्यक्ष नहीं बन पाने की स्थिति में त्रिवेंद्र सिंह रावत को अध्यक्ष बनवाना चाहते थे।

चूंकि अब जल्दी ही स्थानीय निकायों के चुनाव हैं और फिर लोकसभा चुनाव, इसलिए भाजपा हाईकमान जल्द से जल्द नए अध्यक्ष के नाम का ऐलान करना चाह रही थी। कोश्यारी राज्यसभा सांसद होने के साथ ही भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी हैं। खास बात यह है कि विपक्ष के नेता अजय भट्ट को भी कोश्यारी कैंप का माना जाता है। कोश्यारी को प्रदेश संगठन की कमान सौंपे जाने पर भाजपा में दोनों प्रमुख पद एक ही खेमे के पास होते। इसलिए भी खंडूरी चाह रहे थे कि तीरथ सिंह रावत को प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाए।

amarujala

मेरा पता

तीरथ सिंह रावत

भाजपा राष्ट्रीय सचिव / पूर्व प्रदेश अध्यक्ष / पूर्व शिक्षा मंत्री

ग्राम एवं डाकघर - सीरों, पट्टी असवालस्यूं
पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखण्ड , 246155
भारत

  +91.94120 04626

  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

  contact