भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज ओएनजीसी ऑडिटोरियम, देहरादून उत्तराखंड) में आयोजित प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को भी संबोधित किया और भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा, सिद्धांतों और कार्यपद्धति पर विस्तार से चर्चा की। विदित हो कि श्री शाह देश के सभी राज्यों में कुल 110 दिनों के अपने विस्तृत प्रवास कार्यक्रम के तहत दो दिवसीय दौरे पर अभी उत्तराखंड में हैं। इससे पहले देवभूमि उत्तराखंड आगमन पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय अमित शाह जी का हार्दिक स्वागत व अभिनंदन किया गया। तत्पपश्चात् श्री शाह ने देहरादून में प्रदेश पदाधिकारी, सांसद, विधायक, मेयर, जिला अध्यक्ष, जिला महामंत्री व अन्य पदाधिकारियों के साथ बैठक कर संवाद किया। इसके पश्चात् उन्होंने पंडित दीनदयाल उपाध्याय कार्य विस्तारक योजना की समीक्षा बैठक भी की। श्री शाह ने कहा कि यह वर्ष पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी का जन्म शताब्दी वर्ष है।

  • कई सरकारें 50 साल में दो-तीन ऐतिहासिक काम करती हैं लेकिन तीन साल में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भाजपा सरकार ने तीन साल में 50 ऐसे काम किये हैं जो ऐतिहासिक हैं। लोगों को अच्छे लगने वाले फैसले की जगह हमने लोगों के अच्छे और देश की भलाई के लिए फैसले लिए हैं
  • मैं राहुल गांधी को बताना चाहता हूँ कि वंशवाद भारत का स्वभाव नहीं है, वंशवाद आपकी पार्टी का स्वभाव है, आप इसे देश पर थोपने का प्रयास मत कीजिये। हमारे पुरखों में तो सात-सात पीढ़ियों में राजनीति में कोई नहीं था, इसके बावजूद हम यहाँ तक पहुंचे।
  • हमारा वादा है पहाड़ के युवाओं से - आपको रोजगार के लिए पहाड़ छोड़ना पड़े, ऐसे स्थिति नहीं आने दी जायेगी
  • कांग्रेस ने इतने सालों तक उत्तराखंड में जो गंदगी फैला रखी थी, अभी उसकी स्वच्छता में राज्य की त्रिवेन्द्र सिंह रावत सरकार लगी हुई है, देखते ही देखते उत्तराखंड भी देश के एक विकसित प्रदेश के रूप में प्रतिस्थापित होगा
  • 13वें वित्त आयोग में कांग्रेस सरकार ने उत्तराखंड के लिए 30,343 करोड़ रुपये की राशि दी थी जबकि 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने उत्तराखंड के लिए पांच वर्षों में 49,000 करोड़ से अधिक की राशि आवंटित की है जो कांग्रेस की तुलना में डेढ़ गुने से भी अधिक है
  • कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन होगा, यह सबको पता है लेकिन भारतीय जनता पार्टी का अगला लक्ष्य कौन होगा, यह किसी को मालूम नहीं है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी में अध्यक्ष वंश, जाति अथवा धर्म के आधार पर नहीं बल्कि योग्यता के आधार पर तय होते हैं
  • भारतीय जनता पार्टी में नेता अपनी निष्ठा, देश के लिए काम करने की लगन, परिश्रम, मेधा और परफॉरमेंस के आधार पर बनते हैं, यही कारण है कि यहाँ एक बूथ कार्यकर्ता भी पार्टी का अध्यक्ष बन सकता है और एक गरीब का बेटा भी देश का प्रधानमंत्री
  • 1950 से 2017 की जन संघ से भारतीय जनता पार्टी की यात्रा अंत्योदय, एकात्म मानववाद और सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की यात्रा रही है और यही हमारे मूल सिद्धांत हैं
  • देश में जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार आती है तो देश विकास के पथ पर तेज गति से आगे बढ़ता है और जब कांग्रेस की सरकार आती है तो विकास दर पीछे चला जाता है
  • 40 वर्षों से लंबित भूतपूर्व सैनिकों की ‘वन रैंक, वन पेंशन’ की मांग को एक ही साल में पूरा करके मोदी सरकार ने पूर्व सैनिकों को सम्मान के साथ जीने का अधिकार दिया है 
  • आज देश में लगभग 1650 छोटी-बड़ी पार्टियों में से सिर्फ और सिर्फ भारतीय जनता पार्टी ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जिसके अंदर आतंरिक लोकतंत्र बचा हुआ है। जिस पार्टी के अंदर ही लोकतंत्र नहीं है, वह देश का भला कभी नहीं कर सकती
  • पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी न केवल भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक सदस्य और अध्यक्ष रहे बल्कि उन्होंने जन संघ के माध्यम से एक ऐसी पार्टी की नींव रखी जो सिर्फ राजनीतिक कारणों से राजनीति में नहीं है, बल्कि देश को एक वैकल्पिक नीति देने के लिए है

उन्होंने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी न केवल भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक सदस्य और अध्यक्ष रहे बल्कि उन्होंने जन संघ के माध्यम से एक ऐसी पार्टी की नींव रखी जो सिर्फ राजनीतिक कारणों से राजनीति में नहीं है, बल्कि देश में परिवर्तन की बयार लाने के लिए है। उन्होंने कहा कि इसके लिए उन्होंने जीवन पर्यंत कार्य किया और उसी का परिणाम है कि जन संघ के रूप में 11 सदस्यों से शुरू हुई भारतीय जनता पार्टी आज 11 करोड़ से अधिक सदस्यों के साथ विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है। उन्होंने कहा कि देश में कई पार्टियां अपने स्थापना के मूल उद्देश्यों से भटक गई लेकिन भारतीय जनता पार्टी कभी भी अपने रास्ते से नहीं भटकी और इसका मूल कारण यह है कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी ने जो कार्यपद्धति बनाई थी, उसमें रास्ता भटकने की कोई जगह ही नहीं थी। उन्होंने कहा कि उन्हीं तपस्वी महापुरुष की तपस्या का पुण्य फल है कि आज भारतीय जनता पार्टी देश के 80 प्रतिशत भू-भाग पर जनता की अहर्निश सेवा में लगी हुई है और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार है जो विश्व भर में भारत की गरिमा को पुनर्प्रतिष्ठित कर रही है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मेरीअखिल भारतीय यात्रा का मूल उद्देश्य संगठन को मजबूत करना, विचारधारा का विस्तार करना और भारतीय जनता पार्टी की परंपरा को गाँव के अंतिम बूथ तक पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अन्य पार्टियों से अलग कैसे है, इसके लिए मैं कुछ विषयों पर तुलनात्मक विश्लेषण प्रस्तुत करना चाहूंगा। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद देश ने बहुपक्षीय लोकतांत्रिक संसदीय प्रणाली को आत्मसात किया। उन्होंने कहा कि एक बहुदलीय लोकतांत्रिक संसदीय प्रणाली में किसी भी पार्टी का मूल्यांकन तीन मापदंडों के आधार पर किया जाना चाहिए - पार्टी का आंतरिक लोकतंत्र, पार्टी का सिद्धांत और सत्ता में आने पर सरकार की कार्यपद्धति।

उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि देश की जनता इन आधारभूत मापदंडों पर राजनीतिक पार्टियों का मूल्यांकन करे। श्री शाह ने कहा कि आज देश में लगभग 1650 छोटी-बड़ी पार्टियों में से सिर्फ और सिर्फ भारतीय जनता पार्टी ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जिसके अंदर आतंरिक लोकतंत्र बचा हुआ है। उन्होंने कहा कि जिस पार्टी के अंदर ही लोकतंत्र नहीं है, वह देश का भला कभी नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि देश की अधिकतर पार्टियों में सबको पता है कि उसका अगला अध्यक्ष कौन होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन होगा, समाजवादी पार्टी का अगला अध्यक्ष कौन होगा, यह सबको पता है लेकिन भारतीय जनता पार्टी का अगला लक्ष्य कौन होगा, यह किसी को मालूम नहीं है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी में अध्यक्ष वंश, जाति अथवा धर्म के आधार पर नहीं बल्कि योग्यता के आधार पर तय होते हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में नेता अपनी निष्ठा, देश के लिए काम करने की लगन, परिश्रम, मेधा और परफॉरमेंस के आधार पर बनते हैं, यही कारण है कि यहाँ एक बूथ कार्यकर्ता भी पार्टी का अध्यक्ष बन सकता है और एक गरीब का बेटा व पार्टी का एक छोटा सा कार्यकर्ता देश का प्रधानमंत्री।

उन्होंने कहा कि देश में कई सारी पार्टियाँ हैं जो वंशवाद और जातिवाद के आधार पर ही चल रही हैं। कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि अभी-अभी कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेरिका जाकर यह बयान दिया कि वंशवाद तो भारत का स्वभाव है। उन्होंने कहा कि मैं राहुल गांधी को बताना चाहता हूँ कि वंशवाद भारत का स्वभाव नहीं है, वंशवाद आपकी पार्टी का स्वभाव है, आप इसे देश पर थोपने का प्रयास मत कीजिये। हमारे पुरखों में तो सात-सात पीढ़ियों में राजनीति में कोई नहीं था, इसके बावजूद हम यहाँ तक पहुंचे। उन्होंने कहा कि जो पार्टियां वंशवाद के ऊपर उठ कर काम करती है, वही देश का कल्याण कर सकती है। उन्होंने कहा कि मैं देश की जनता का भी आह्वान करना चाहूँगा कि वे भी ऐसे दलों को चुनें जहां आंतरिक लोकतंत्र हो।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी के मूल्यांकन का दूसरा महत्वपूर्ण मापदंड है - पार्टी का सिद्धांत। उन्होंने कहा कि जो पार्टियां सिद्धांतों के आधार पर नहीं चलती हैं, वे देश का भला नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि भारतीय जन संघ की स्थापना ही सिद्धांतों के आधार पर देश को एक वैकल्पिक नीति देने के लिए हुई थी। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नेहरू जी के नेतृत्व में जब देश की विकास नीति, कृषि नीति, विदेश नीति, अर्थ नीति, रक्षा नीति और शिक्षा नीति का निर्माण हो रहा था तब डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी सहित कई राष्ट्र मनीषियों को लगा कि नेहरू सरकार देश के लिए जो नीतियाँ बना रही है, उन नीतियों के रास्ते पर यदि यह देश चलता रहा तो पीछे मुड़ने का भी रास्ता नहीं मिलेगा, तब उन लोगों ने एक ऐसी वैकल्पिक नीति को राष्ट्र के सामने रखने का साहस किया जिसमें देश की मिट्टी की सुगंध हो, उससे पाश्चात्य विचारों की बू न आती हो और जो नीतियाँ देश को विकास के पथ पर गतिशील करने में सहायक हो। उन्होंने कहा कि ने कहा कि 1950 से 2017 की जन संघ से भारतीय जनता पार्टी की यात्रा अंत्योदय, एकात्म मानववाद और सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की यात्रा रही है और यही हमारे मूल सिद्धांत हैं।

उन्होंने कहा कि इसलिए हम पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जन्म शताब्दी को गरीब कल्याण वर्ष के रूप में मना रहे हैं और देश के करोड़ों गरीबों के उत्थान के लिए अनवरत कार्य कर रहे हैं, यह हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की स्थापना सत्ता प्राप्त करने के लिए नहीं बल्कि राष्ट्र के भविष्य को सुरक्षित रखने के उद्देश्य से हुई थी, भारत को फिर से विश्वगुरु के पद पर प्रतिष्ठित कर देश के खोये हुए गौरव को पुनर्स्थापित करने के लिए हुई थी। श्री शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के क्या सिद्धांत हैं, कोई नहीं बता सकता क्योंकि कांग्रेस पार्टी की स्थापना सिद्धांत के लिए हुई ही नहीं थी, आजादी प्राप्त करने के लिए हुई थी और इसमें सभी विचारधाराओं के लोग शामिल थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भारतीय जन संघ की विचारधारा में एक बड़ा मूल अंतर यह था कि कांग्रेस देश का नवनिर्माण करना चाहती थी जबकि भारतीय जन संघ देश की प्राचीन सांस्कृतिक विरासत और गौरवशाली वैभव के आधार पर देश का पुनर्निर्माण करना चाहती थी। उन्होंने कहा कि जिस पार्टी का कोई सिद्धांत नहीं है, वह देश का विकास नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि स्थापना से लेकर आज तक हमारे नेतृत्व के जीवन का क्षण-क्षण और शरीर का कण-कण राष्ट्र-सेवा के प्रति समर्पित रहा है। उन्होंने कहा कि स्थापना से लेकर आज तक हमने जितने भी कार्यक्रम हाथ में लिए है, वे देश की समस्याओं के समाधान के लिए हैं चाहे वह कश्मीर आन्दोलन हो, कच्छ का सत्याग्रह हो, गोवा मुक्ति संग्राम हो, राम जन्मभूमि आंदोलन हो, भ्रष्टाचार के खिलाफ देश की यात्रा हो या फिर गौ-हत्या को बंद करने का आंदोलन हो। उन्होंने कहा कि आज भी हमारे पास हजारों ऐसे कार्यकर्ता हैं जो निस्वार्थ भाव से पार्टी और देश की सेवा में लगे हुए हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि देश की जनता ने कांग्रेस की भी सरकारें देखीं है, क्षेत्रीय दलों की सरकारें भी देखीं है, कुछ राज्यों में वामपंथी दलों की सरकारें भी देखी हैं और भारतीय जनता पार्टी सरकार के कार्यों को भी देखा है और इन सभी सरकारों के विकास आंकड़े अध्ययन के लिए उपलब्ध हैं।

उन्होंने कहा कि यदि हम सरकारों का मूल्यांकन करें तो यह पता चलता है कि देश में जब-जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार आती है तो देश का विकास होता है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि जब केंद्र में श्री अटल बिहार वाजपेयी जी के नेतृत्व में भाजपा-नीत राजग सरकार बनी तो देश विकास दर 4.4% थी, श्री वाजपेयी जी देश की विकास दर को 8.4% तक ले गए लेकिन मनमोहन सिंह की नेतृत्व वाली कांग्रेस की यूपीए सरकार 10 सालों में फिर से इसे 4% पर ले आई। उन्होंने कहा कि तीन साल से केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है, हम तीन वर्षों में फिर से इसे औसतन 7% से ऊपर लाने में सफल हुए हैं। उन्होंने कहा कि इसका मतलब साफ़ है कि देश में जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार आती है तो देश विकास के पथ पर तेज गति से आगे बढ़ता है और जब कांग्रेस की सरकार आती है तो विकास दर पीछे चला जाता है। उन्होंने कहा कि देश ने कांग्रेस की सरकारें भी देखी, कम्युनिस्ट पार्टियों की सरकारें भी देखी, क्षेत्रीय दलों की सरकारें भी देखी और भारतीय जनता पार्टी की केंद्र और राज्य सरकारों को भी देखा, अब वक्त आ गया है कि इन सरकारों के विकास के आंकड़ों का तुलनात्मक अध्ययन किया जाए।

उन्होंने कहा कि गरीबी उन्मूलन, जीडीपी ग्रोथ, स्वास्थ्य, साक्षरता, ग्रामीण विकास, कृषि विकास, बिजली उत्पादन एवं वितरण और बच्चों एवं माताओं की मृत्यु दर में कमी - इन सभी क्षेत्रों में भाजपा की सरकारें पहले स्थान पर हैं। उन्होंने कहा कि देश के जिन-जिन राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकारें हैं, वहां विकास तेज गति से आगे बढ़ा है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में भी आपने एक स्थिर सरकार बनाई है, मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ कि पांच साल में उत्तराखंड एक विकसित राष्ट्र के रूप में प्रतिष्ठित होगा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के शासन में विकास इसलिए होता है क्योंकि भाजपा सरकार सिद्धांतों पर चलती है, पारदर्शी और निर्णायक तरीके से चलती है। श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमने देश को कांग्रेस के 12 लाख करोड़ रुपये के घपले-घोटाले और भ्रष्टाचार वाली सरकार की जगह एक भ्रष्टाचार-मुक्त, पारदर्शी और निर्णायक सरकार देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि आंतरिक लोकतंत्र, पार्टी के सिद्धांत और सत्ता में आने पर सरकार की कार्यपद्धति - इन तीनों मापदंडों पर भारतीय जनता पार्टी जन-अपेक्षाओं पर खड़ी उतरी है। उन्होंने कहा कि आज पूरी दुनिया यह मानने लगी है कि भारत विकसित राष्ट्र बनने की दिशा में आगे चल पड़ा है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि लोगों को अच्छे लगने वाले फैसले की जगह मोदी सरकार ने लोगों के अच्छे के लिए और देश की भलाई के लिए फैसले लिए हैं। उन्होंने कहा कि कई सरकारें 50 साल काम करती हैं, तो दो-तीन ऐतिहासिक काम होते हैं लेकिन तीन साल में मोदी सरकार ने 50 ऐसे काम किये हैं जो ऐतिहासिक हैं। उन्होंने कहा एनडीए के नेता चुने जाने के बाद अपने पहले ही उद्बोधन में श्री नरेन्द्र भाई मोदी ने यह स्पष्ट कर दिया कि केंद्र की भाजपा सरकार देश के गाँव, गरीब, किसान, मजदूर, आदिवासी, दलित, पिछड़े, युवा एवं महिलाओं की सरकार होगी और पिछले तीन साल से कुछ अधिक समय में मोदी सरकार ने इसे अक्षरशः सिद्ध करके दिखाया है। श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत दुनिया की सबसे तेज गति से विकास करने वाली अर्थव्यवस्थाओं में से एक अर्थव्यवस्था बनी है। उन्होंने कहा कि साढ़े चार करोड़ से अधिक शौचालय का निर्माण कर महिलाओं को सम्मान के साथ जीने का अधिकार दिया गया है और हमने लक्ष्य रखा है कि 2022 में जब आजादी के 75 पूरे होंगे तब देश में ऐसा कोई घर नहीं होगा जहां शौचालय न हो। उन्होंने कहा कि लगभग 29 करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट खोल कर उन्हें देश के अर्थतंत्र की मुख्यधारा में जोड़ा गया है।

उन्होंने कहा कि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के कारण लाभार्थियों को मिलने वाली आर्थिक सहायता सीधे उनके बैंक अकाउंट में जाती है, इससे लगभग 59,000 करोड़ रुपये की सब्सिडी का भ्रष्टाचार कम हुआ है। उन्होंने कहा कि मुद्रा बैंक योजना के माध्यम से देश के करोड़ों गरीब युवाओं को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराये गए हैं, हमने युवाओं को जॉब सीकर से जॉब क्रियेटर बनाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि जीएसटी के रूप में ‘एक राष्ट्र, एक कर’ का स्वप्न साकार हुआ है। उन्होंने कहा कि आजादी के 70 साल बाद भी बिजली से वंचित देश के 18 हजार से अधिक गाँवों में से 13 हजार से अधिक गाँवों में बिजली पहुंचाने का काम पूरा कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि 2018 तक हर गाँव में और 2022 तक देश के हर घर में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य प्राप्त कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आजादी से लेकर केंद्र की यूपीए सरकार तक देश में लगभग 12.5 करोड़ गैस सिलिंडर ही बांटे गए थे जिसमें से 11.80 करोड़ कनेक्शन शहरी क्षेत्रों में बांटे गए थे। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने इस पंचवर्षीय योजना में देश के पांच करोड़ गरीब महिलाओं को गैस कनेक्शन देने का निर्णय लिया है जिसमें से देश के 2.80 करोड़ गरीब महिलाओं के घर में गैस सिलिंडर पहुंचाया जा चुका है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने देश के सोचने के स्केल को बदलने का काम किया है। उन्होंने कहा कि आजादी के 70 साल बाद भी लोगों को आजादी का मतलब नहीं पता था, जब लोगों के घरों में गैस सिलिंडर पहुंचा, शौचालय पहुंचा, बिजली पहुँची, सामाजिक सुरक्षा कवच जब लोगों को मिला तब उन्हें मालूम पड़ता है कि इसे आजादी कहते हैं। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने कहा कि 104 उपग्रहों को एक साथ अंतरिक्ष में प्रक्षेपित कर भारत अंतरिक्ष के अंदर दुनिया की एक प्रमुख ताकत के रूप में उभरा है। उन्होंने कहा कि 40 वर्षों से लंबित भूतपूर्व सैनिकों की ‘वन रैंक, वन पेंशन’ की मांग को एक ही साल में पूरा करके मोदी सरकार ने पूर्व सैनिकों को सम्मान के साथ जीने का अधिकार दिया है। उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक से दुनिया का देश को देखने के नज़रिये में बदलाव आया है।

उन्होंने कहा कि पहले राजनीतिक इच्छाशक्ति नहीं थी, इसलिए दुश्मनों को उसी की भाषा में जवाब देने के फैसले नहीं लिए जाते थे। उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक करके अमेरिका के बाद ऐसा साहस दिखाने का काम हिन्दुस्तान ने करके दिखाया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने तीन सालों में देश की अर्थव्यवस्था में से काले धन के दुष्प्रभाव को काफी हद तक दूर करने में सफलता प्राप्त की है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी, राजनीतिक चंदे में कैश के रूप में मिलने वाली रकम को 2,000 रुपये तक सीमित करने की नीति, दो लाख शेल कंपनियों के रजिस्ट्रेशन को ख़त्म करने की कार्रवाई, बेनामी संपत्ति पर नकेल और मॉरीशस-साइप्रस-सिंगापुर रूट को बंद करके मोदी सरकार ने काले धन पर कठोर प्रहार किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा, स्वायल हेल्थ कार्ड, नीम कोटेड यूरिया, सिंचाई योजना, ई-मंडी जैसी योजनाओं के माध्यम से किसानों की आय को 2022 तक दुगुना करने के लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में तेज गति से काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि ‘भीम' एप से डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा दिया गया है। उन्होंने कहा कि जेनरिक दवाई, स्टैंट एवं कृत्रिम घुटनों के प्रत्यारोपण मूल्य में भारी कमी से देश के गरीब एवं मध्यम वर्ग के लोगों को फायदा पहुंचा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने पूरे विश्व में योग को प्रतिष्ठित करने का काम किया है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि देश के सर्वांगीण विकास के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने तीन सालों में 106 लोक-कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत की लेकिन उत्तराखंड में जब तक कांग्रेस की सरकार रही तब तक उत्तराखंड को विकास से महरूम रखा गया लेकिन अब उत्तराखंड को विकास के पथ पर आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। उन्होंने कहा कि त्रिवेन्द्र सिंह रावत सरकार उत्तराखंड को एक पारदर्शी, भ्रष्टाचार मुक्त और विकासोन्मुखी सरकार देने में सफल होगी। श्री शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने उत्तराखंड के विकास के लिए कई कदम उठाये हैं।

उन्होंने कहा कि 13वें वित्त आयोग में कांग्रेस-नीत यूपीए सरकार ने उत्तराखंड के लिए पांच वर्षों में विकास के लिए लगभग 30,343 करोड़ रुपये की राशि दी थी जबकि 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने उत्तराखंड के लिए पांच वर्षों में 49000 करोड़ रुपये से अधिक की राशि आवंटित की है जो कांग्रेस की तुलना में डेढ़ गुने से भी अधिक है। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त स्वच्छ भारत अभियान के लिए पांच करोड़, सॉलिड वेस्ट मेनेजमेंट के लिए 70 करोड़, प्रधानमंत्री आवास योजना के लये 28 करोड़, अमृत मिशन के लिए 593 करोड़, स्वायल हेल्थ कार्ड के लिए तीन करोड़, परम्परागत कृषि सिंचाई योजना के लिए 44 करोड़, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के लिए 20 करोड़, ई-मार्किट के लिए 20 करोड़, पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए 196 करोड़ और ऑल वेदर रोड के लिए 12,000 करोड़ रुपये दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं, मुद्रा बैंक योजना के लिए 4,427 करोड़ और उदय डिस्कॉम योजना में लगभग 900 करोड़ रुपया दिया गया है। उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर उत्तराखंड को विकास के लिए एक लाख करोड़ रुपये से अधिक की राशि इन सेक्टरों में दी गई है। कांग्रेस पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि हमने तो अपना हिसाब दे दिया लेकिन जो हमसे हिसाब मांगते हैं, वे अपने कार्यकाल का हिसाब उत्तराखंड की जनता को कब देंगे? उन्होंने कहा कि राज्य में लगभग 21 लाख जन-धन खाते खोले गए हैं, 24 लाख से अधिक एलईडी बल्ब का वितरण किया गया है और प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में राज्य के लाखों परिवारों को गैस सिलिंडर उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने कहा कि ‘वन रैंक, वन पेंशन' योजना से सबसे ज्यादा फायदा उत्तराखंड को हुआ है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हमारा वादा है पहाड़ के युवाओं से - आपको रोजगार के लिए पहाड़ छोड़ना पड़े, ऐसे स्थिति नहीं आने दी जायेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इतने सालों तक उत्तराखंड में जो गंदगी फैला रखी थी, अभी उसकी स्वच्छता में राज्य की त्रिवेन्द्र सिंह रावत सरकार लगी हुई है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में त्रिवेन्द्र सिंह रावत जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी सरकार राज्य के विकास के लिए अहर्निश काम कर रही है और देखते ही देखते उत्तराखंड भी भाजपा सरकार के नेतृत्व देश के एक विकसित प्रदेश के रूप में प्रतिस्थापित होगा।

मेरा पता

तीरथ सिंह रावत

भाजपा राष्ट्रीय सचिव / पूर्व प्रदेश अध्यक्ष / पूर्व शिक्षा मंत्री

ग्राम एवं डाकघर - सीरों, पट्टी असवालस्यूं
पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखण्ड , 246155
भारत

  +91.94120 04626

  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

  contact